गठबंधन की राजनीति : हाशिए के पार

हमारी राजनीति में गठबंधन वैचारिक आधार पर नहीं बल्कि वक्त की जरूरत के हिसाब से होते रहे हैं और किसी भी एक पक्ष की जरूरत न रह जाने पर ऐसे गठबन्धनों की कोई जरूरत नहीं रह जाती, लिहाजा गठबंधन की राजनीति, राजनीतिक गठबंधन में बदल जाती है ।