पवित्रता का ढोंग करने से ज्यादा बेेतुकी बात ओर नहीं हो सकती। अश्वनी सेठी नई दिल्ली